जन सरोकार

इनबॉक्स में प्रेम !

मेसेज बॉक्स सोशल मीडिया की सबसे खतरनाक जगहों में तब्दील होता जा रहा है। बहुत कम लोग हैं जो इसका इस्तेमाल सार्थक संवाद के लिए करते हैं। आमतौर पर मानसिक रूप से अपरिपक्व और भावनात्मक तौर पर अस्थिर लोग प्रेम की और शातिर लोग मनोरंजन और मौज़-मजे के लिए शिकार की तलाश में यहां भटकते देखे जाते हैं। ज्यादातर लोग यहां धोखे और ब्लैकमेलिंग के शिकार होते हैं। शायद मेरी…

Posted in जन सरोकार | Tagged , , , , , | Leave a comment

आख़िर क्यों हैं पीढ़ियों के फ़ासले ?

पीढ़ियों के बीच वैचारिक फ़ासले और मतभेद मानवता की शाश्वत समस्या रही है। समाज के कृषि पर आधारित होने के कारण पीढ़ियों के बीच तमाम मतभेदों के बावजूद हज़ारों वर्षों तक घर में बुज़ुर्गों का सम्मान बना रहा और परिवार टूटे नहीं। पूंजीवादी मूल्यों के आगमन के बाद पिछले कुछ दशकों में स्थितियां तेजी से बदली हैं। देश के वृद्धाश्रमों से लेकर तीर्थस्थलों और सड़कों तक बेसहारा वृद्धों की भारी…

Posted in जन सरोकार | Tagged , , , | Leave a comment

दिल्ली में बाढ़ की चेतावनी, खतरे के निशान से ऊपर पहुंचा यमुना का जलस्तर

दिल्ली-एनसीआर में गुरुवार से हो रही बारिश के कारण जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। बारिश के कारण दिल्ली से सटे गाजियाबाद के सभी स्कूल शुक्रवार को बंद रहेंगे। हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में बारिश के कारण लैंडस्लाइड की खबर है। पत्थर और मलबा गिरने के कारण नेशनल हाइवे 305 ब्लॉक हो गया है। गुरुवार सुबह शुरू हुई तेज बारिश से आज भी राहत मिलने के आसार नजर नहीं आ…

Posted in जन सरोकार | Tagged , , , , , , , , | Leave a comment

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने किया छठी वाहिनी परिसर भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल का उद्घाटन

छठी वाहिनी परिसर भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल ,जलालपुर कैम्प  के नव निर्मित भव का उद्घाटन राजनाथ सिंह ,माननीय गृहमंत्री ,भारत सरकार के हाथों से हुआ । इस मौके पर नितीश कुमार ,माननीय मुख्यमंत्री बिहार सरकार ,सुशील कुमार मोदी ,उप मुख्यमंत्री ,बिहार सरकार ,स्थानीय सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल, छपरा सांसद, राजीव प्रताप रुडी ,विधायक चोकर बाबा ,। आर के पचनंदा डीजी ,भारत तिब्बत सीमा पुलिस ने मुख्य अतिथियों का स्वागत…

Posted in जन सरोकार | Tagged , , , | Leave a comment

दिल्ली में चैता गायन का ज़बरदस्त मुक़ाबला

जनपथ स्थित इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र में गुरुवार की शाम चैता गायन का ज़बरदस्त मुक़ाबला हुआ। चैता गायन का यह आयोजन राष्ट्रीय कला केंद्र और हिंदुस्थान समाचार ने संयुक्त रूप से आयोजित किया। विश्व भोजपुरी सम्मेलन, प्रवासी पूर्वांचल कल्याण परिषद भी  आयोजन  के संयुक्त आयोजक  थे। नई दिल्ली में में चैता गायन के इस आयोजन के मुख्य सूत्रधार भाजपा सांसद व एस आई एस सिक्योरिटी एजेंसी के संस्थापक, अध्यक्ष, हिंदुस्थान समाचार भी …

Posted in जन सरोकार | Tagged , , , , , | Leave a comment

उगीs हो सूरूज देव अरघ के बेर

आज से ‘नहाय-खाय’ के साथ लोक-आस्था के महान पर्व छठ के चार-दिवसीय आयोजन का आरम्भ हो रहा है। छठ सूर्य की उपासना का लोक-पर्व है। हमारे अनगिनत देवी-देवताओं में से एक सूर्य ही हैं जो हमेशा हमारी आंखों के सामने हैं। पृथ्वी पर जो भी जीवन है, उर्वरता है, हरीतिमा है, सौंदर्य है – वह सूर्य के कारण ही हैं। सूर्य न होते तो न पृथ्वी संभव थी, न जीवन…

Posted in जन सरोकार | Tagged , , , , | Leave a comment

गौरांग महाप्रभु ने बरबाद वृंदावन को आबाद किया था

18 फरवरी 1486 को चैतन्य महाप्रभु का जनम बंगाल के नवदीप गांव में हुआ था । नवदीप को आजकल नदिया कहते हैं । उस दिन चंद्रग्रहण लगा था । उस दिन लाखों लोगों ने ग्रहण का स्नान किया था । पण्डित ने ग्रहों का मिलान करते हुए बताया कि यह बालक भक्ति मार्ग पर आजीवन चलेगा । बालक बड़ा होकर एक महापुरूष बनेगा । चूंकि इस बालक का जनम नीम…

Posted in जन सरोकार, रचना क्रम में | Tagged , , , , , , , , | Leave a comment

जो जस करही वो तस फल चाखा

इस देश में मुग़ल भी हुए, जिनके महलों की जगह आज खंडहरों ने ले ली है। वे अंग्रेज भी यहीं से अस्त हुए जिनका कभी सूरज नहीं डूबता था। आज़ादी के बाद से कमोबेश 6 दशक तक भारत पर शासन करने वाली कांग्रेस तो भारत को खैरात समझती थी, लेकिन आज हकीकत ये है कि गुजरात में उसके युवराज को सुनने के लिए भाड़े के लोग जुटाने पड़ रहे हैं।…

Posted in जन सरोकार, रचना क्रम में | Tagged , , , , | Leave a comment

नवरात्र का कर्मकांड

स्त्री-शक्ति के प्रति सम्मान के नौ दिवसीय पर्व शारदीय नवरात्र का आरम्भ हो रहा है। यह अवसर है नमन करने का उस सृजनात्मक शक्ति को जिसे ईश्वर ने स्त्रियों को सौंपा है। उस अथाह प्यार, ममता और करुणा को जो कभी मां के रूप में व्यक्त होता है, कभी बहन, कभी बेटी, कभी मित्र, कभी प्रिया और कभी पत्नी के रूप में। दुर्गा पूजा, गौरी पूजा और काली पूजा वस्तुतः…

Posted in जन सरोकार, रचना क्रम में | Tagged , , , | Leave a comment

नट संस्कृति अनादि काल से चली आ रही है

नट को पौराणिक ग्रंथों में ऐसे पुरूष के रूप में चित्रित किया गया है जो दृश्य काव्य को अभिनय से जाहिर करता है। मतलब कि नट नाट्य करते हैं और नाट्य कला में पूर्णतः प्रवीण पुरूष को हीं नट कहा जाता है । नट नृत्य भी करते हैं । भगवान शिव भी नृत्य व संगीत के शौकीन थे । उनकी एक नृत्य की मुद्रा नटराज कहलाती है । मनु महाराज…

Posted in जन सरोकार | Tagged , , , , , , | Leave a comment