जन सरोकार

प्रणय दिवस की मधुबाला !

भारत की वीनस, ब्यूटी ऑफ ट्रेजेडी, और सौंदर्य साम्राज्ञी के नाम से विख्यात अभिनेत्री मधुबाला उर्फ़ मुमताज़ बेग़म ज़हां देहलवी हिंदी सिनेमा की वह पहली अभिनेत्री थी जो अपने जीवन-काल में ही मिथक बनी। सिनेमा के परदे पर इस कदर स्वप्निल सौन्दर्य, ऐसी दिलफ़रेब अदाएं, इतनी उन्मुक्त हंसी और वैसी रहस्यमयी मुस्कान हिंदी सिनेमा के दर्शकों ने उनके पहले नहीं देखी थी। उनके बाद भी शायद नहीं देख पाए। फिल्म…

Posted in जन सरोकार | Tagged , , , , , , , | Leave a comment

चोट ।

आई पी सी के सेक्सन 44 के अनुसार किसी भी व्यक्ति के शरीर , मन , प्रतिष्ठा या सम्पति में किसी वजह से अवैध रुप से किया गया नुकसान चोट कहलाता है । आम तौर पर चोट से अभिप्राय शरीर और मन पर लगे आघात से लगाया जाता है । शरीर पर चोट लगती है । दर्द दिल को होता है । आघात दिल पर लगता है तो भी दिल…

Posted in जन सरोकार | Tagged , , , , | Leave a comment

आई हिचकी , हिचकी आई ।

हिचकी आना आम बात है । जब आप मिर्च व मसालेदार युक्त भोजन करते हैं , कार्बोनेटेड पेय पीते हैं , शराब , सिगरेट , बीड़ी और हुक्के के मार्फत अपने अंदर निकोटिन इनहेल करते हैं तो हिचकी आती है । च्यूइंगम चबाने से भी हिचकी आती है । हिचकी का कोई असरदार उपचार अभी तक इजाद नहीं हुआ है । लेकिन कुछ घरेलू नुस्खें हैं जिनकी मदद से इस…

Posted in जन सरोकार | Tagged , , , , | Leave a comment

छेराछेरा कोठी का धान ला हेर हेरा के ।

ऐसा कहा जाता है कि छत्तीस गढ़ के राजा कल्याण शाह को मुगल बादशाह अकबर ने शाहजादे सलीम को राज काज का ज्ञान देने के लिए दिल्ली बुलाया था । उन्हें वहां रहते तकरीबन आठ साल हो गये थे । जब कल्याण शाह दिल्ली से रतनपुर लौटे तो लोग उनकी आगवानी के लिए नगर के बाहर खड़े थे । राजा को प्रजा ने फूलों से लाद दिया । उनको बाजे…

Posted in जन सरोकार | Tagged , , , , , , , | Leave a comment

समाजवाद के अग्रदूत – महाराज अग्रसेन .

आज से तकरीबन 5 हज़ार वर्ष पूर्व सूर्यवंशीय क्षत्रिय राम की वंश परम्परा के 34 वीं पीढ़ी में महाराज अग्रसेन का जन्म हुआ था । इनके पिता का नाम बल्लभसेन और माता का नाम भगवती था । ये ज्येष्ठ पुत्र थे । इसलिए महाराज बल्लभ सेन इनको सत्ता सौंप स्वयं वानप्रस्थी हो गए थे । नागराज की कन्या माधवी के स्वयम्बर में महाराज अग्रसेन भी आमन्त्रित थे ।माधवी के रूप…

Posted in जन सरोकार | Tagged , , , , , | Leave a comment

सादगी का दीपक – महारानी अहिल्या बाई होल्कर

अहिल्या बाई होल्कर का जन्म 31मई सन् 1725 को चाउड़ी ( चांदवड़ ) अहमदनगर महाराष्ट्र में हुआ था । इनके पिता का नाम मानकोजी शिंदे था । मानकोजी शिंदे एक अति साधारण परिवार से थे , पर संस्कारी थे । उन्होंने अहिल्याबाई में अच्छे संस्कारों का बीजारोपण किया था । इंदौर राज्य के संस्थापक मल्हार राव होल्कर को अपने पुत्र खण्डे राव के लिए एक अच्छी संस्कारी बहु चाहिए थी…

Posted in जन सरोकार | Tagged , , , , , | Leave a comment

जापान में “सुपर डैड ” की खेती होने लगी है ।

जापान में 1992 तक यह मानकर चला जाता था कि घर का काम औरतों का होता है । पुरुष का काम बाहर से कमा के लाना होता है । शेष घर परिवार की जिम्मेदारी औरत को निभानी होती है । ऐसा मानने वाले 60% से ज्यादा पुरुष स्त्री थे । समय का चक्र चलता रहा । अब 45% पुरुष मान रहे हैं कि पुरुष को बाहर की जिम्मेदारी के साथ…

Posted in जन सरोकार | Tagged , , , , , , | Leave a comment

राफेल पर कांग्रेस और भाजपा दोनों ही है कठघरे में : ध्रुव गुप्त

दो दिनों तक लोकसभा में राफेल विवाद पर सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों को सुनने के बाद समझ यह बनती है कि इस मामले में कमोबेश कांग्रेस और भाजपा दोनों ही कठघरे में हैं। वायुसेना की तत्काल मांग को देखते हुए 2004 में आई कांग्रेस सरकार ने 526 करोड़ प्रति विमान की दर तय कर फ्रांस से 126 राफेल विमान खरीदने का मसौदा तैयार किया। वायुसेना की तत्काल ज़रूरतों और…

Posted in चिंतन, जन सरोकार, सामान्य | Tagged , , , , , , , | Leave a comment

सर्व भाषा ट्रस्ट का प्रथम वार्षिकोत्सव सम्पन्न

भाषा, साहित्य, कला और संस्कृति के संरक्षण-संवर्धन के लिए समर्पित संस्था सर्व भाषा ट्रस्ट द्वारा दिल्ली के साहित्य अकादमी सभागार में प्रथम वार्षिकोत्सव का आयोजन किया गया।अपने स्वागत भाषण में सर्व भाषा ट्रस्ट की परिकल्पना और उसकी योजनाओं पर अध्यक्ष अशोक लव ने विस्तार से चर्चा की। उन्होंने आगामी योजनाओं की भी चर्चा की। सचिव रीता मिश्रा व समन्वयक केशव मोहन पाण्डेय ने वार्षिक रिपोर्ट पढ़ी। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि…

Posted in जन सरोकार, युवा अभिव्यक्ति, रचना क्रम में | Tagged , , , , | Leave a comment

जानें खत्री समाज के बारे में ।

बहुधा भारत के पश्चिमोत्तर प्रांतों में बसा हुआ है ये खत्री समाज । ये समाज अपने को सूर्यवंशीय क्षत्रिय मानता है । ये अपने को श्रीराम के पुत्र लव व कुश का वंशज बताते हैं । आज भी पश्चिमोत्तर में स्थित लाहौर और कसूर नगर लव और कुश द्वारा बसाए हुए माने जाते हैं । कहते हैं कि लव के वंशज सोढ़ी और कुश के वंशज बेदी के रुप में…

Posted in जन सरोकार | Tagged , , , , | Leave a comment