सुपरस्टार रजनीकांत ने किया राजनीति में आने का ऐलान,नयी पार्टी बनाकर लड़ेंगे विधानसभा चुनाव

तमिलनाडु के सुपरस्टार रजनीकांत ने आखिरकार राजनीति में आने के फैसले का ऐलान कर ही दिया। उन्होंने चेन्नई स्थित राघवेंद्र कल्याण मंडपम में ऐलान किया कि वे आने वाले तमिलनाडु विधानसभा चुनावों के पहले एक पार्टी का गठन करेंगे और इसके तहत ही सभी विधानसभा क्षेत्रों से उम्मीदवार खड़ा करेंगे।

उनके इस फैसले के काफी राजनैतिक मतलब निकाले जा रहे हैं। जानकारों का मानना है कि इससे तमिलनाडु की विधानसभा चुनावों पर अब सीधा असर पड़ेगा जिसका नुकसान सत्तासीन पार्टी को हो सकता है। यही नहीं  ना केवल विधानसभा चुनाव में इसका असर होगा बल्कि इसका प्रभाव आगामी लोकसभा चुनाव पर भी पड़ेगा जिसका लाभ बीजेपी को मिल सकता है क्योंकि राजनैतिक पंडितों का मानना है कि रजनीकांत पीएम मोदी और बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के काफी करीब हैं।

अगर वो अलग पार्टी बनाकर भी चुनाव लड़ते  भी हैं तो भी भाजपा को ही फायदा होगा, वहीं दूसरी ओर एआईएडीएमके के पास जयललिता के बाद और डीएमके में कोई भी ऐसा नेता नहीं है जो अपने दम पर चुनाव जीता सके, वो जीत तो सकते ही हैं बल्कि वो राज्य में सरकार बनाने में भी महत्वपूर्ण रोल निभा सकते हैं, ऐसे में अब देखना दिलचस्प होगा कि मोदी की जमकर तारीफ करने वाले रजनीकांत को भाजपा कैसे अपनी ओर आने के लिए मनाती है क्योंकि विधानसभा चुनाव का रिजल्ट लोकसभा चुनाव का समीकरण तय करेगा, इसमें किसी को संदेह नहीं।

तमिलनाडु की राजनीति में फिल्मी सितारों का राजनीति में प्रवेश नया नहीं है। यहां की जनता का फिल्मी सितारों से भावनात्मक जुड़ाव रहा है और उन्हें अपने नेता के रूप में बाहें फैलाकर उनका स्वागत किया है। इससे पहले एमजी रामचंद्रन और जे. जयललिता ने भी सिल्वर स्क्रीन पर धमाल मचाने के बाद मुख्यमंत्री की कुर्सी तक का सफर तय किया। द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) सुप्रीमो और पूर्व मुख्यमंत्री एम. करुणानिधि ने भी अपने करियर की शुरुआत तमिल फिल्म उद्योग में पटकथा लेखक के रूप में ही की थी। ऐसे में यदि रजनीकांत भी सत्ता की कुर्सी तक पहुंचने में कामयाब रहे तो अधिक हैरानी की बात नहीं होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *