जापान में “सुपर डैड ” की खेती होने लगी है ।

January 14, 2019

जापान में 1992 तक यह मानकर चला जाता था कि घर का काम औरतों का होता है । पुरुष का काम बाहर से कमा के लाना होता है । शेष घर परिवार की जिम्मेदारी औरत को निभानी होती है । ऐसा मानने वाले 60% से ज्यादा पुरुष स्त्री थे । समय का चक्र चलता रहा । अब 45% पुरुष मान रहे हैं कि पुरुष को बाहर की जिम्मेदारी के साथ…

Read More >>

राफेल पर कांग्रेस और भाजपा दोनों ही है कठघरे में : ध्रुव गुप्त

January 4, 2019

दो दिनों तक लोकसभा में राफेल विवाद पर सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों को सुनने के बाद समझ यह बनती है कि इस मामले में कमोबेश कांग्रेस और भाजपा दोनों ही कठघरे में हैं। वायुसेना की तत्काल मांग को देखते हुए 2004 में आई कांग्रेस सरकार ने 526 करोड़ प्रति विमान की दर तय कर फ्रांस से 126 राफेल विमान खरीदने का मसौदा तैयार किया। वायुसेना की तत्काल ज़रूरतों और…

Read More >>

सर्व भाषा ट्रस्ट का प्रथम वार्षिकोत्सव सम्पन्न

December 27, 2018

भाषा, साहित्य, कला और संस्कृति के संरक्षण-संवर्धन के लिए समर्पित संस्था सर्व भाषा ट्रस्ट द्वारा दिल्ली के साहित्य अकादमी सभागार में प्रथम वार्षिकोत्सव का आयोजन किया गया।अपने स्वागत भाषण में सर्व भाषा ट्रस्ट की परिकल्पना और उसकी योजनाओं पर अध्यक्ष अशोक लव ने विस्तार से चर्चा की। उन्होंने आगामी योजनाओं की भी चर्चा की। सचिव रीता मिश्रा व समन्वयक केशव मोहन पाण्डेय ने वार्षिक रिपोर्ट पढ़ी। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि…

Read More >>

जानें खत्री समाज के बारे में ।

October 20, 2018

बहुधा भारत के पश्चिमोत्तर प्रांतों में बसा हुआ है ये खत्री समाज । ये समाज अपने को सूर्यवंशीय क्षत्रिय मानता है । ये अपने को श्रीराम के पुत्र लव व कुश का वंशज बताते हैं । आज भी पश्चिमोत्तर में स्थित लाहौर और कसूर नगर लव और कुश द्वारा बसाए हुए माने जाते हैं । कहते हैं कि लव के वंशज सोढ़ी और कुश के वंशज बेदी के रुप में…

Read More >>

इनबॉक्स में प्रेम !

October 3, 2018

मेसेज बॉक्स सोशल मीडिया की सबसे खतरनाक जगहों में तब्दील होता जा रहा है। बहुत कम लोग हैं जो इसका इस्तेमाल सार्थक संवाद के लिए करते हैं। आमतौर पर मानसिक रूप से अपरिपक्व और भावनात्मक तौर पर अस्थिर लोग प्रेम की और शातिर लोग मनोरंजन और मौज़-मजे के लिए शिकार की तलाश में यहां भटकते देखे जाते हैं। ज्यादातर लोग यहां धोखे और ब्लैकमेलिंग के शिकार होते हैं। शायद मेरी…

Read More >>

आख़िर क्यों हैं पीढ़ियों के फ़ासले ?

October 3, 2018

पीढ़ियों के बीच वैचारिक फ़ासले और मतभेद मानवता की शाश्वत समस्या रही है। समाज के कृषि पर आधारित होने के कारण पीढ़ियों के बीच तमाम मतभेदों के बावजूद हज़ारों वर्षों तक घर में बुज़ुर्गों का सम्मान बना रहा और परिवार टूटे नहीं। पूंजीवादी मूल्यों के आगमन के बाद पिछले कुछ दशकों में स्थितियां तेजी से बदली हैं। देश के वृद्धाश्रमों से लेकर तीर्थस्थलों और सड़कों तक बेसहारा वृद्धों की भारी…

Read More >>

दिल्ली में बाढ़ की चेतावनी, खतरे के निशान से ऊपर पहुंचा यमुना का जलस्तर

July 28, 2018

दिल्ली-एनसीआर में गुरुवार से हो रही बारिश के कारण जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। बारिश के कारण दिल्ली से सटे गाजियाबाद के सभी स्कूल शुक्रवार को बंद रहेंगे। हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में बारिश के कारण लैंडस्लाइड की खबर है। पत्थर और मलबा गिरने के कारण नेशनल हाइवे 305 ब्लॉक हो गया है। गुरुवार सुबह शुरू हुई तेज बारिश से आज भी राहत मिलने के आसार नजर नहीं आ…

Read More >>

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने किया छठी वाहिनी परिसर भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल का उद्घाटन

April 23, 2018

छठी वाहिनी परिसर भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल ,जलालपुर कैम्प  के नव निर्मित भव का उद्घाटन राजनाथ सिंह ,माननीय गृहमंत्री ,भारत सरकार के हाथों से हुआ । इस मौके पर नितीश कुमार ,माननीय मुख्यमंत्री बिहार सरकार ,सुशील कुमार मोदी ,उप मुख्यमंत्री ,बिहार सरकार ,स्थानीय सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल, छपरा सांसद, राजीव प्रताप रुडी ,विधायक चोकर बाबा ,। आर के पचनंदा डीजी ,भारत तिब्बत सीमा पुलिस ने मुख्य अतिथियों का स्वागत…

Read More >>

दिल्ली में चैता गायन का ज़बरदस्त मुक़ाबला

April 13, 2018

जनपथ स्थित इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र में गुरुवार की शाम चैता गायन का ज़बरदस्त मुक़ाबला हुआ। चैता गायन का यह आयोजन राष्ट्रीय कला केंद्र और हिंदुस्थान समाचार ने संयुक्त रूप से आयोजित किया। विश्व भोजपुरी सम्मेलन, प्रवासी पूर्वांचल कल्याण परिषद भी  आयोजन  के संयुक्त आयोजक  थे। नई दिल्ली में में चैता गायन के इस आयोजन के मुख्य सूत्रधार भाजपा सांसद व एस आई एस सिक्योरिटी एजेंसी के संस्थापक, अध्यक्ष, हिंदुस्थान समाचार भी …

Read More >>

उगीs हो सूरूज देव अरघ के बेर

October 24, 2017

आज से ‘नहाय-खाय’ के साथ लोक-आस्था के महान पर्व छठ के चार-दिवसीय आयोजन का आरम्भ हो रहा है। छठ सूर्य की उपासना का लोक-पर्व है। हमारे अनगिनत देवी-देवताओं में से एक सूर्य ही हैं जो हमेशा हमारी आंखों के सामने हैं। पृथ्वी पर जो भी जीवन है, उर्वरता है, हरीतिमा है, सौंदर्य है – वह सूर्य के कारण ही हैं। सूर्य न होते तो न पृथ्वी संभव थी, न जीवन…

Read More >>