हारे को हरि नाम !

अपने कार्यकाल के साढ़े चार वर्षों बाद भी देश की भाजपा सरकार के पास अगले चुनाव के पहले मतदाताओं को आकर्षित करने लायक कुछ भी नहीं है। अपने कार्यकाल में गरीबों और मध्यवर्ग को लूटकर कॉर्पोरेट घरानों की झोलियां भरने वाली यह सरकार आर्थिक, सामाजिक और कश्मीर नीति के मोर्चे पर पूरी तरह विफल रही है। देश की अर्थव्यवस्था टूटन के कगार पर है। पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस की कीमतें…

Read More >>

मैं हरमू नदी हूं ।

हरमू नदी रांची शहर के इर्द गिर्द बहती है । हरमू नदी के कारण हीं गर्मियों में रांची शहर की ठंडक बरकरार रहती है । बिहार राज्य का कभी रांची शहर ग्रीष्म कालीन राजधानी हुआ करता था । कारण था यहां की खुशनुमा ठंडक और हरियाली । हरमू नदी न केवल ठंडक पहुंचाती थी , बल्कि गाती भी थी । कल कल छल छल करती यह नदी 40 किलोमीटर दूर…

Read More >>

धड़क जाए गीतों की दुनियां जो कोई शब्द सजा दे ।

बोल खूबसूरत हों तो गीतों में चार चांद लग जाते हैं । सबसे अहम चीज भाषा होती है । भाषा शब्दों से बनती है । शब्द गीतों के लिए उपहार होते हैं । कुछ शब्द ऐसे होते हैं , जिन्हें लाख जतन करें वे हटते नहीं हैं , वे डटे रहते हैं । उनके एवज में कोई दूसरा शब्द वहां फिट हीं नहीं बैठता । शब्दों की बाजीगरी में जिसको…

Read More >>

भारत की पहली मस्जिद का रहस्य !

इस तथ्य से कम लोग परिचित है कि अपने भारत में हजरत मोहम्मद (स.अ.व) के जीवन काल में बनी एक मस्जिद भी है। इसे देश की पहली जुमा मस्जिद कहा जाता है। हज़रत मोहम्मद के देहावसान के तीन साल पहले केरल के कोडुनगल्लूर में बनी इस ऐतिहासिक मस्जिद के गेट पर लिखा है – चेरमान जुमा मस्जिद, स्थापित 629। वक़्त के साथ इस मस्जिद के बाहरी ढांचे का कई बार…

Read More >>

जीते जी दूसरी दुनिया में प्रवेश !

कहा जाता है कि हमारी दुनिया में कुछ ऐसी जगहें भी हैं जहां से किसी दूसरी दुनिया में प्रवेश संभव है। दुनिया भर के आध्यात्मिक साहित्य ऐसे उल्लेखों से भरे पड़े हैं कि पृथ्वी पर कुछ ऐसी रहस्यमय, लेकिन अदृश्य गुफाएं हैं जिनमें प्रवेश करते ही कोई दूसरी दुनिया या लोक में पहुंच जा सकता है। इसी रहस्यमय रास्ते से दूसरी दुनिया के लोग भी कभी-कभी इस पृथ्वी पर आते…

Read More >>

इनबॉक्स में प्रेम !

मेसेज बॉक्स सोशल मीडिया की सबसे खतरनाक जगहों में तब्दील होता जा रहा है। बहुत कम लोग हैं जो इसका इस्तेमाल सार्थक संवाद के लिए करते हैं। आमतौर पर मानसिक रूप से अपरिपक्व और भावनात्मक तौर पर अस्थिर लोग प्रेम की और शातिर लोग मनोरंजन और मौज़-मजे के लिए शिकार की तलाश में यहां भटकते देखे जाते हैं। ज्यादातर लोग यहां धोखे और ब्लैकमेलिंग के शिकार होते हैं। शायद मेरी…

Read More >>

आख़िर क्यों हैं पीढ़ियों के फ़ासले ?

पीढ़ियों के बीच वैचारिक फ़ासले और मतभेद मानवता की शाश्वत समस्या रही है। समाज के कृषि पर आधारित होने के कारण पीढ़ियों के बीच तमाम मतभेदों के बावजूद हज़ारों वर्षों तक घर में बुज़ुर्गों का सम्मान बना रहा और परिवार टूटे नहीं। पूंजीवादी मूल्यों के आगमन के बाद पिछले कुछ दशकों में स्थितियां तेजी से बदली हैं। देश के वृद्धाश्रमों से लेकर तीर्थस्थलों और सड़कों तक बेसहारा वृद्धों की भारी…

Read More >>

प्रथम महिला अंतरिक्ष पर्यटक थीं अनुशेहा अंसारी ।

अनुशेहा अंसारी का जन्म ईरान के मशहद में 12 सितम्बर 1966 को हुआ था । 1979 में हुई ईरान क्रांति के पांच साल बाद 1984 में अनुशेहा अंसारी का पूरा परिवार अमेरिका शिफ्ट कर गया था। अमेरिका जाकर अनुशेहा अंसारी ने कम्प्यूटर साईंस और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की । इसी दौरान अनुशेहा अंसारी की मुलाकात हामिद अंसारी से हुई । दोनों की दोस्ती प्यार में बदली और इन दोनों…

Read More >>

चौकीदारी करना इतना आसान नहीं है ।

कभी नवाजुद्दीन शिद्दकी दिल्ली में चौकीदारी करते थे । आज वे एक प्रतिभावान अभिनेता हैं । उनकी गिनती आज वाॅलीवुड के नामचीन अभिनेताओं में होती है । नवाजुद्दीन शिद्दकी एक बहुमुखी प्रतिभा के धनी कलाकार हैं । कभी हमारे प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी चाय बेचा करते थे । सफलता की सीढ़िया चढ़ते हुए आज मोदी जी इस पद तक पहुंचे हैं । प्रधान मंत्री बनने के बाद उन्होंने कहा –…

Read More >>

सदाचारी हीं ब्राह्मण कहलाता है ।

कृष्ण का पुत्र साम्ब कुष्ट रोग से पीड़ित थे । कृष्ण ने शाक्यद्वीप से ब्राह्मणों को बुलावाया । ये ब्राह्मण कुष्ट रोग के इलाज में माहिर थे । उन्होंने एक विशेष प्रकार का मलहम तैयार किया और साम्ब के घावों पर उसका लेपन किया । शाक्यद्वीपीय ब्राह्मण सूर्य के उपासक थे । कहते हैं कि ये ब्राह्मण देहज नहीं थे । इन्हें सीधे तौर पर सूर्य ने अपने पराक्रम से…

Read More >>
error: Content is protected !!