कौवे :- एक अद्भुत चालाक पंछी की व्यथा – कथा

कौवे एक चालाक पंछी की श्रेणी में आते हैं ।ये अपने दुश्मन को 05 साल तक याद रखते हैं । मेरी माँ अपने बचपन में एक कौवे के बच्चे को पकड़ लिया था । वह कउवा लगातार कई साल तक माँ के सर में मारता रहा – यहाँ तक कि लड़कियों के झुण्ड में रहने पर भी । कौवा अपने घोसले के आस पास किसी पंछी को आने नहीं देता…

Read More >>

गली में फिर चांद निकला ।

आज से 450 करोड़ वर्ष पहले हमारी पृथ्वी से थैया नाम का एक उल्का पिण्ड टकराया था । इस टक्कर से पृथ्वी का एक टुकड़ा टूटकर अलग हो गया । यही टुकड़ा चांद कहलाया , जिससे कवियों ने सुदंरता का एक मानदण्ड बनाया । किसी रुपसी को देखकर चांद से उसकी तुलना करने पर उस रुपसी का मान बढ़ जाता है । एक प्यारी सी गजल है – कल चौदवीं…

Read More >>

खैबर दर्रा – यादों के झरोखों से .

खैबर दर्रा को भारत का प्रवेश द्वार कहा जाता था । इसी प्रवेश द्वार से अफ़्रीकी मानव भारत में प्रवेश कर सभ्यता के कई सोपानों को चढ़ता हुआ आज इस स्तर पर पहुँचा है । इसी मार्ग द्वारा पहुँच कर पँजाब में ऋग्वेद की रचना हुई थी । इसी दर्रे से पहुँच कर सिकन्दर , मुहम्मद गोरी , तैमूर ,बाबर , नादिर शाह , अहमद शाह अब्दाली आदि आक्रांताओं ने…

Read More >>

अटल बिहारी वाजपेयी ने एम्स में ली आखिरी सांस, एक युग का अंत

भारत रत्न और तीन बार प्रधानमंत्री रहे अटल बिहारी वाजपेयी का गुरुवार शाम निधन हो गया। वे 93 वर्ष के थे। दो महीने से एम्स में भर्ती थे। लेकिन, पिछले 36 घंटों के दौरान उनकी सेहत बिगड़ती चली गई। उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था। इससे पहले वे 9 साल से बीमार थे। राजनीति की आत्मा की रोशनी जैसे घर में ही कैद थी। वे जीवित थे, लेकिन…

Read More >>

व्यंग्य-“जाति पूछो भगवान की”

गांव में रामचरित मानस कथा के दस-दिवसीय आयोजन का आज अंतिम दिन था। जवार के लगभग दो हजार लोग एकत्र थे। हरिद्वार के स्वामी नित्यानंद महाराज भगवान विष्णु के दशावतारों की आध्यात्मिक व्याख्या कर रहे थे। कलियुग में हो रहे पापों की संक्षिप्त सूची पढ़ने के बाद उन्होंने घोषित किया कि कलियुग अब अपने अंतिम चरण में है। किसी भी दिन भगवान का कल्कि अवतार संभावित है और शास्त्रों के…

Read More >>

रोशनी हो न सकी दिल भी जलाया मैंने ।

अमिता कुलकर्णी बैडमिंटन में एक जाना पहचाना नाम था । सैय्यद मोदी भी एक बहुचर्चित नाम थे बैण्डमिंटन में । सैय्यद मोदी ने बैण्डमिंटन के जाने माने नाम प्रकाश पादुकोण को हराकर राष्ट्रीय चैम्पियनशिप अपने नाम कर ली थी । अमिता कुलकर्णी और सैय्यद मोदी एक दूसरे से बैण्डमिंटन कोर्ट में हीं मिले थे । यहीं पर इनका प्यार पल्लवित व पुष्पित हुआ । बाद में दोनों ने शादी कर…

Read More >>

मैंने हर बार जूतों को रफीक समझा है ।

आपको वह दृश्य याद होगा कि किस तरह एक पत्रकार ने अमेरिका के राष्ट्रपति पर दो बार जूते फेंके थे । हालाँकि दोनों बार निशाना चूक गया था , पर वह पत्रकार रातों रात स्टार बन गया था । उसके जूते भी अमर हो गये । जूतों बनाने वाली कम्पनियों में इस बात का श्रेय लेने की होड़ मच गयी कि वह उन्हीं के ब्राण्ड का जूता था । लेकिन…

Read More >>

अंतहीन प्रतीक्षा की अधूरी कविता !

भारतीय इतिहास के मध्यकाल में प्रेम की अप्रतिम गायिका मीराबाई के अलावा प्रेम की दीवानी एक और कवयित्री भी हुई थी जिसके बारे में बहुत कम लोगों को ही पता है। प्रेम की गहन संवेदना, दर्द और अंतहीन प्रतीक्षा को अलफ़ाज़ देने वाली यह कवयित्री थी सत्रहवीं सदी की मुग़ल शहजादी, औरंगज़ेब की बड़ी बेटी जेबुन्निसा। मुग़ल खानदान में उसके आखिरी शासक बहादुर शाह जफर के अलावा जेबुन्निसा ही ऐसी…

Read More >>

तुम मुझ पर नजर रखो (4)

सुरेन्द्र कौर के मरे दो हफ्ते बीत चुके थे । मेरी जिंदगी की नाव मझधार में हिचकोले खा रही थी । मैंने अपने दत्तक पुत्र को उसके मां बाप के पास भेज दिया । उसकी परवरिश व पढ़ाई वहीं होने लगी । मैंने सुरेन्द्र कौर के कहने पर एक फ्लैट जीरकपुर में बुक किया था । उसके जिंदा रहते इस फ्लैट का अधिग्रहण नहीं हुआ था । अब जाकर उसका…

Read More >>

ममता बनर्जी और उमर अब्दुल्ला की मुलाकात, अभी प्रधानमंत्री उम्मीदवार तय न किया जाए, बिखर जाएगा महागठबंधन:ममता बनर्जी

2019 के लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दोबारा सत्ता से दूर रखने के लिए तीसरा मोर्चा कमर कस चुका है। बीजेपी के खिलाफ एक साथ लामबंद हुए पार्टियों में टीएमसी प्रमुख और पश्चिम बंगाल मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सबसे मजबूत और प्रभावी मानी जा रही हैं। शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने दीदी से मुलाकात की है। जाहिर है कि 2019 लोकसभा चुनाव के मद्देनजर रणनीति…

Read More >>
error: Content is protected !!