चींटी चढ़ी पहाड़ पर

January 18, 2020

बचपन में मैंने एक बड़े कीड़े को खेल—खेल में मार दिया था। उसके मृत शरीर के पास एक चींटी आयी। उसे सूंघा और एक दिशा में चल पड़ी। मैंने उसका पीछा किया। वह एक बिल में जा घुसी। एक सेकण्ड बाद ही वह फिर बाहर निकली। उसके पीछे चींटियों का काफिला आ रहा था। चींटियां कतार में चल रहीं थीं। आगे चलने वाली चींटी एक तरह का रसायन छोड़ती है,…

Read More >>