प्रेम की पूर्णता भारत के सिवा कहीं नहीं

September 19, 2019

मनुष्य की पूर्णता कब है, जानते हैं? मनुष्य की पूर्णता तब है, जब अज्ञानी पशु भी उसको देख कर, उससे मिल कर आनंद का अनुभव करने लगे। जब किसी को आपसे कोई भय नहीं हो, जब सबके लिए आप प्रेम स्वरूप हों, तब आप पूर्ण हो जाते हैं। मानवता के अलग-अलग मापदण्डों पर ध्यान दीजिए, आप समझ जाएंगे कि भारत को विश्व गुरु क्यों कहा जाता था। मानवता की यूरोपीय…

Read More >>