अब भी याद आता है वो पंगत में बैठकर भोजन करना ।

October 11, 2017

पंगत में बैठकर भोजन करने का एक अलग सुख होता है । आप खाते जाइए । परोसने वाले आपको खिलाते जाएंगे । बेशक आप खाते खाते थक जाएंगे , पर खिलाने वाले कत्तई नहीं थकेंगे । हां , अगर आपको किसी विशेष डिश की जरूरत है और वह आपके पास नहीं आ रही है या आप शर्मो हया के चलते मांग नहीं पा रहे हों तो ऐसे में सिर्फ आपको…

Read More >>